Yaad & Miss You Shayari

Akasr jab hum unko yaad karte hai Apne rab se yahi faryaad karte hai… Umar hamari bhi lag jaye unko. Kyoki hum unko khud se zyada pyar kaarte hai.


आज हँसी देकर कल रुला न देना, इतना याद करके फिर भुला न देना, अपने इस प्यारे रिश्ते को याद रखना, इन्हें गैरों की तरह भुला न देना.


महक रही है जिंदगी आज भी जिसकी खुशबू से, वो कौन था जो यूँ गुजर गया मेरी यादों से.


Teri Yaadein Bhi Bachpan Ke Khilone Jaisi Hain, Tanha Hota Hoon to Inhe Lekar Baith Jata Hoon.


मिला हूँ ख़ाक में ऊँची मगर औकात रखी है, तुम्हारी बात थी आखिर तुम्हारी बात रखी है, भले ही पेट की खातिर कहीं दिन बेच आया हूँ, तुम्हारी याद की खातिर भी पूरी रात रखी है.


Kya pata kyo aadat hai unki yaad aane ki, in aankho ko unki jhalak pane ki, humari to tamanna hai unko pane ki, par shayad unko aadat hai hume tadpane ki.


दो लफ्ज़ क्या लिखे तेरी ‪याद में हमने, लोग कहने लगे तू आशिक बहुत पुराना है.


अपनी यादों की खुशबू भी हम से छीन लोगे क्या किताब-ए-दिल में अब ये सूखा गुलाब तो रहने दो.


Yaad karne me humne hadd kardi, magar bhool jane me tum bhi kamal karte ho.


एक तुम हो सनम कि कुछ कहते नहीं, एक तुम्हारी यादें हैं जो चुप रहती नहीं.