Yaad & Miss You Shayari

तेरी यादें भी मेरे बचपन के खिलौने जैसी हैं, तन्हा होता हूँ तो इन्हें लेकर बैठ जाता हूँ.


मोहब्बत की महफ़िल में आज मेरा ज़िक्र है, अभी तक याद हूँ उसको खुदा का शुक्र है.


फूलो की तरह हंसती रहो, कलियोँ की तरह मुस्कुराती रहो, खुदा से सिर्फ इतना मांगता हूँ, कि तुम मुझे हमेशा याद आती रहो.


Us din mai khud ko khush naseeb smjhunga Jis din ek pal bhi tum mujhe yaad kar logi.


मेरी चाहत में कोई कमी तो नहीं है, फिर क्यों वो बार-बार आज़माए मुझे, दिल उसकी याद से एक पल भी नहीं जुदा, फिर कैसे मुमकिन है वो भूल जाए मुझे.


रख लो दिल में संभाल कर थोड़ी सी यादें हमारी, रह जाओगे जब तन्हा बहुत काम आयेंगे हम.


Ek Wohi Shakss Muje Yaad Aaraha, Jiss ko Samjaa tha bhool jaaunga.


यूँ तो मुद्दतें गुजार दी है हमने तेरे बगैर मगर, आज भी तेरी यादों का एक झोंका मुझे टुकड़ो में बिखेर देता है.


Aanchal phir se bhigone wali hu, Ji Bhar k teri Yaad mai Rone wali Hoo.


कोई पुरानी कहानी याद आ रही है, किसी की याद आज फिर सता रही है, अब ऐसी सूरत में ना जाने वो कैसे आएगी, नहीं शायद आज फिर नींद नहीं आएगी.


Wo shakhs nazar aaey kabi to usy faqat itna kehna,,, jin ko aadi kar diya he apna, Wo log bhot yad karty hen tumhe.


रात गुमसुम हैं और चाँद खामोश है, तेरी यादों ने कर दिया मुझे मदहोश है, कैसे कह दूँ आज मैं होश में हूँ जब हाथ में जाम है और पीने का होश नहीं.