Shayari in Hindi: All Types of Latest Shayari 

कैसे बदल दूं मैं फितरत ये अपनी, मुझे तुम्हें सोचते रहने की आदत सी हो गई है.


Har baar hum par ilzaam laga dete ho mohhabat ka, Kabhi khud se pucha hai ki itne hassen ku ho.


Sirf ik baar aa Mary Dil ki Aahat sunn.. Phir Lotnay ka irada Hum Tum par chor Den Ge.


Main Bimaar-e-Muhabbat Hoon Mujhey Kya Gharz Hakeemo Se…!! Agar Meri Shifaa Chaho Mera Mehboob Le Aao.


रब से आपकी खुशीयां मांगते है, दुआओं में आपकी हंसी मांगते है, सोचते है आपसे क्या मांगे, चलो आपसे उम्र भर की मोहब्बत मांगते है.


Hamne To Aek Hi Shaks Pe Chahat Khatm Kardi Ab Mohabbat Kisko Kehte He Kuch Maaloom Nahi.


kuchh khaas nahi bas itanee see hai mohabbat meri , har raat kaa aakhari khayaal aur har subah ki pahali soch ho tum.


Us k Chor jany k Bad hum Mohabbat Nahi Karty Kisi Se …..! Thori Si to Umer Ha Kis Kis Ko Azmaty Phren gy.


Mujhe Chahate Honge Or Bhi Log Bohat.. Magar Mujh Ko Mohabbat Sirf Apni Mohabbat Se Hai.


मुझे भी जरुरुत है तेरी बाहो की। दुनिया के वजूद और दुनिया के रास्ते बहुत कमजोर है.


दिल को छु जाती है, एक तुम और एक बाते तुम्हारी.


थाम लूँ तेरा हाथ और तुझे इस दुनिया से दूर ले जाऊं, जहाँ तुझे देखने वाला मेरे सिवा कोई और ना हो.


धूप मायूस लौट जाती है छत पेँ कपङेँ सुखाने आया करो.


पाँव लटका के दुनिया की तरफ  आओ बैठे किसी सितारे पर.