1000+ Sharabi Shayari in Hindi - Amazing Collection on Sharab

Sharabi Shayari in Hindi

Sharabi Shayari in Hindi:

Sad Sharabi Shayari in Hindi

Sharabi Shayari in Hindi Sad Sharabi Shayari in Hindi Dard Bhari Sharabi Shayari in Hindi Funny Sharabi Shayari in Hindi Sharabi Shayari in Hindi 140 2 Line Sharabi Shayari in Hindi Sharabi Shayari on Attitude in Hindi Sharabi Shayari in Hindi For Friends 1000+ Sharabi Shayari in Hindi - Amazing Collection on Sharab We have The Latest Collection on Sharabi Shayari in Hindi And English. You Can Share With Your Friends, GF, BF, Love on Whatsapp And Facebook Etc.

टूटे हुए प्याले में जाम नहीं आता तेरी याद न आये ऐसा कोई शाम नहीं आता मैंने सोचा की बेवफा सनम को मशहूर कर दूँ पर इस कम्बख्त जुबान पे तेरा नाम नहीं आता.


महफ़िल में इस कदर पीने का दौर था, हमको पिलाने के लिए सबका जोर था, पी गए हम इतनी यारो के कहने पर, न अपना गौर था न ज़माने का गौर था!!


जाम तो यू ही बदनाम है यारों कभी इश्क करके देखो या तो पीना भूल जाओगे या फिर पी-पी के जीना भूल जाओगे.


रख ले 2-4 बोतल कफ़न में, साथ बैठ कर पिया करेंगे, जब माँगे गा हिसाब गुनाहों का, एक पेग उसे भी दे दिया करेंगे.

Dard Bhari Sharabi Shayari in Hindi

पानी में विस्की मिलाओ तो नशा चड़ता है, पानी में रम मिलाओ तो नशा चड़ता है, पानी में ब्रेंड़ी मिलाओ तो नशा चड़ता है, साला पानी में ही कुछ गड़बड़ है.


 

HEADS आया तो WHISKEY Tails आया तो VODKA जमीन पर खड़ा रहा तो RUM और हवा में ही रहा तो माँ कि कसम 31st से दारु बंद.


अब के सावन में सबका हिसाब कर दूंगा जिसका जो वाकी है वो भी हिसाब कर दूंगा और मुझे इस गिलास में ही कैद रख वरना पूरे शहर का पानी शराब कर दूंगा.


तन्हाई में भी कहते है लोग जरा महफ़िल में जिया करो पैमाना लेके बिठा देते है मैखाने में और कहते है जरा तुम कम पिया करो.

Funny Sharabi Shayari in Hindi

5 ग्लास दूध पियो फिर दीवार हिलाने की, कोशिश करो, नही हिलेगी. 5 कैन बियर पियो और सिर्फ दीवार की तरफ देखो दीवार अपने आप ही हिलने लगेगी


एक शराबी दारू पी पी कर मर गया लेकिन उसकी दारू के प्रति श्रद्धा तो देखो, वो मर के भी यह कह गया शराब तो ठीक थी, पर मेरा लिवर ही कमज़ोर निकला.


Har taraf khamoshi ka saya hai, Zindagi me pyaar kisne paya hai, Hum yaadon mein jhoomte hai uski aur zamana kehta hai, Dekho aaj phir peekar aaya hai.


चुप चाप चल रहे थे अपनी मंज़िल की ओर फिर ठेके पर नज़र पड़ी और गुमराह से हो गये हम.

Sharabi Shayari in Hindi 140

महकता हुआ जिस्म तेरा गुलाब जैसा है नींद के सफर में तू ख्वाब जैसा है दो घूँट पी ले दे आँखों की मस्तियाँ नशा तेरी आँखों का शराब के जाम जैसा है


हफ़िल – ऐ -इश्क सजाओ तो कोई बात बने दौलत-ऐ -इश्क लुटाओ तो कोई बात बने जाम हाथों से नहीं है पीना मुझको कभी आँखों से पिलाओ तो कोई बात बने


तोफहे  में मत गुलाब लेकर आना मेरी कब्र पर मत चिराग लेकर आना बहुत प्यासा हूँ बरसो से मैं जब भी आना शराब लेकर आना


मैं तलख़िये हयात से घबरा के पी गया गम की सियाह रात से घबरा के पी गया इतनी दक़ीक़ से कोई कैसे समझ सके यज़्दें के वाक़ियात से घबरा के पी गया

2 Line Sharabi Shayari in Hindi

पी है शराब हर गली की दुकान से दोस्ती सी हो गयी है शराब के जाम से गुजरे है हम कुछ ऐसे मुकाम से की आँखें भर आती है मोहब्बत के नाम से


एक जाम उल्फत के नाम एक जाम मोहब्बत के नाम एक जाम वफ़ा के नाम पूरी बोतल बेवफा के नाम और पूरा ठेका दोस्तों के नाम


तेरी आँखों के ये जो प्याले है मेरी अँधेरी रातो के उजाले है पीता हूँ जाम पे जाम तेरे नाम का हम तो शराबी बे -शराब वाले है


तुम हसीन हो गुलाब जैसी हो बहुत  नाजुक हो ख्वाब जैसी हो दिल की धड़कन में आग लगाती हो होठों से लगाकर पी जाऊँ तुम्हे सर से पांव तक शराब जैसी हो

Sharabi Shayari on Attitude in Hindi

पीते थे शराब हम उसने छुड़ाई अपनी कसम देकर  महफ़िल में गए थे हम यारों ने पिलाई उसकी कसम देकर.


अब के सावन में सबका हिसाब कर दूंगा.. जिसका जो वाकी है वो भी हिसाब कर दूंगा… और मुझे स गिलास में ही कैद रख वरना…. पूरे शहर का पानी शराब कर दूंगा.


अभी तो इश्क़ हुआ है, मंज़िल तो मयखाने में मिलेगी.


आज सुबह मैंने एक दोस्त को 3 बार कॉल किया उसने फोन नहीं उठाया तो मैंने उसे मेसेज किया शाम को दारु पार्टी कर रहा हूँ तू आएगा क्या? अब तक मुझे उसके 10 बार कॉल आ चुकी है और अब मैं फोन नहीं उठा रहा.

Sharabi Shayari in Hindi For Friends

लोग कहते हैं पिये बैठा हूँ मैं, खुद को मदहोश किये बैठा हूँ मैं, जान बाकी है वो भी ले लीजिये, दिल तो पहले ही दिये बैठा हूँ मैं।


ना दूर हमसे जाया करो, दिल तड़प जाता है, आपके ख्यालों में ही हमारा दिन गुज़र जाता है, पूछता है यह दिल एक सवाल आपसे, कि क्या दूर रहकर भी आपको हमारा ख्याल आता है.


Related Shayari You Also Like:


इतनी पीता हूँ कि मदहोश रहता हूँ, सब कुछ समझता हूँ पर खामोश रहता हूँ, जो लोग करते हैं मुझे गिराने की कोशिश, मैं अक्सर उन्ही के साथ रहता हूँ।


मंजिल उन्हीं को मिलती है, जिनके हौसलों में जान होती है, और बंद भट्ठी में भी दारू उन्हीं को मिलती है, जिनकी भट्ठी में पहचान होती है!

You May Also Like