Rain Status in Hindi

“ऐ बारिश ज़रा थमके बरस, जब मेरे यार आ जाये तो जमके बरस, पहले न बरस की वह आ न सके, फिर ईतना बरस की वो जा न सके ।”


“गिरा दे जितना पानी है तेरे पास ऐ बादल, ये प्यास किसी के मिलने से बुझेगी तेरे बरसने से नही ।”


“मिलने को तो मिलते है दुनिया में कई चेहरे पर तुम सी मोहब्बत हम खुद से भी न कर पाए ।”


“आज भीगी है पलके किसी की याद मे, बादल भी सिमट गए है अपने आप मे, बारिश की बूँदे ऐसी गिरी है जमीन पर, मानो चाँद भी रोया हो उसकी याद मे ।”


“सुनो बेताब कर गयी हमें तेरी जादु भरी नजर, हम तो तेरे देखनें की अदा देखते रहे गये ।”


“आँखे भी पढ़ लेती हैं मोहब्बत की हरकत को, हर बार शब्दों में प्यार बयान करना जरुरी नहीं होता ।”


“यूँ सामने आकर ना बैठो, सब्र तो सब्र है, हर बार नही होता ।”


“ये बादल ये बिजली सिर्फ आपके लिए है, ये मौसम ये हवा सिर्फ आपके लिए है, कितने दिन बीते आपको नहाये हुए, ये बेवक़्त बारिश सिर्फ आपके लिए है ।”


“गुंडे थे हम, हमारी जिस बंदूक से लोग डरते थे उसी से, पगली ने सीधा दिल पे Encounter कर दिया ।”


“होता अगर मुमकिन, तुझे साँस बनाकर सीने में रखते, तू रुक जाये तो मैं नहीं,और मैं मर जाउँ तो तू नहीं ।”


“बारिश और महोबत दोनों ही यादगार होते हे, बारिश में जिस्म भीगता हैं, और महोबत मैं आँखे ।”


“आज कुछ और नहीं बस इतना सुनो मौसम हसीन है, लेकिन तुम जैसा नहीं ।”


“दुनिया एक तरफ और तू एक तरफ क्योंकि. तू मेरी परी है और ये दुनिया बोहोत बुरी है ।”


“हाथों की लकीरों मैं तुम हो ना हो, जिदंगी भर दिल में जरूर र होगे ।”


“क्या तमाशा लगा रखा है, तूने एबारिश बरसना ही हे, तो जम के बरस वैसे भी इतनी रिमझिम तो मेरी आँखो से रोज हुआ करती है ।”


“नकाब तो उनका सर से ले कर पांव तक था, मगर आँखे बता रही थी के मोहब्बत के शौकीन थे वो ।”


“मजबूरियॉ ओढ के निकलता हूं घर से आजकल, वरना शौक तो आज भी है बारिशों में भीगनें का ।”


“एक हम हैं जो इश्क़ कि बारिश करते है, एक वह हैं जो भीगने को तैयार ही नहीं ।”


“मौसम भी है सुहाना, बारिश भी हो रही है, बस एक कमी है जाना, तेरी याद आ रही है, रिम जिम बरसती बारिश, टीम टीम टपकता पानी, ये शोर कह रहा है, बस एक कमी है जाना, तेरी याद आ रही है, तेरी याद आ रही है ।”


“बारिश की बूँदों में झलकती है, तस्वीर उनकी‬‎ और हम उनसे मिलनें की चाहत में भीग जाते हैं‬ ।”