Rain Status in Hindi

“हवा भी रूक जाती है, कहने को कुछ तराने, बारिश की बूंदे भी उसे छूने को करती है, बहाने ।”


“न जाने क्यू अभी आपकी याद आ गयी, मौसम क्या बदला बरसात भी आ गयी, मैंने छुकर देखा बूंदों को तो, हर बूंद में आपकी तस्वीर नज़र आ गयी ।”


“सभी लोग अचानक से बारीश होने के कारण आश्चर्य चकित हो चुके है, परंतु सभी को में यह बताना चाहता हूँ की, हमारे सुपर हिरो रजनीकान्त होली के लिए उनकी पिचकारी टेस्ट कर रहे हैं ।”


“मैंने उस से पुछा क्या धुप मे बारिश होती है, ये सुन कर वो हँसने लगी, और हँसते हँसते रोने लगी, फिर धुप में बारिश होने लगी ।”


“मोसम हे बारिश का ओर याद तुम्हारी आती है, बारिश के हर कतरे से आवाज़ तुम्हारी आती है ।”


“ए बारिश बरस बरस ओर बरस आज तो तू उसकी यादो को बहा कर ही ले जा ।”


“बारिश की बूँदों में झलकती है, तस्वीर उनकी‬‎ और हम उनसे मिलनें की चाहत में भीग जाते हैं‬ ।”


“पूछते हो ना मुझसे तुम हमेशा की मे कितना प्यार करता हू, तुम्हे तो गिन लो बरसती हुई इन बूँदो को तुम ।”


“रिम झिम रिम झिम बरस रही है, याद तुम्हारी कतरा कतरा ।”


“ये हुस्न ए मौसम, ये बारिश, ये हवाएं, लगता है, मोहब्बत ने आज किसी का साथ दिया है ।”


“बस एक छोटी सी दुआ है, जिन लम्हों में आप मुस्कुराते हो, वो लम्हे कभी ख़त्म ना हो ।”


“कितना अधूरा लगता है, तब जब बादल हो पर बारिश ना हो, जब जिंदगी हो पर प्यार ना हो, जब आँखे हो पर ख्वाब ना हो, और जब कोई अपना हो पर साथ ना हो ।”


“अजीब तमाशा हुआ जब वो सामने आयें हर शिकायत ने जैसे खुदखुशी कर ली ।”


“मैंने कहा तुम्हारी हँसी उधार चाहिये. वो बोली मुस्कान ही दे सकती हूँ हँसी तो खुद उधार ✔ लाती हूँ तुम्हारे लिये ।”


“इतना तो किसी ने चाहा भी न होगा, जितना मैंने सिर्फ सोचा है, तुम्हें ।”


“अगर भीगने का इतना ही शौक है, बारिश मे तो देखो ना मेरी आँखों मे, बारिश तो हर एक के लिए होती है, लेकिन ये आँखें सिर्फ तुम्हारे लिए बरसती है ।”


“नज़र नज़र का फर्क है, हुस्न का नहीं, महबूब जिसका भी हो बेमिसाल होता है ।”


“वो ज़िंदगी ही क्या जिसमे मोहब्बत नही, वो मोहबत ही क्या जिसमे यादें नही, वो यादें क्या जिसमे तुम नही, और वो तुम ही क्या जिसके साथ हम नही ।”


“नज़र ने नज़र से मुलाक़ात कर ली, रहे दोनों खामोश पर बात करली, मोहब्बत की फिजा को जब खुश पाया, इन आंखों ने रो रो के बरसात कर ली ।”