Rain Status in Hindi

“मुझे मार ही ना डाले इन बादलों की साज़िश, ये जब से बरस रहे हैं तुम याद आ रहे हो ।”


“तेरा साथ हे तो मुझे क्या कमी हे, तेरी हर मुस्कान से मिली मुझे ख़ुशी हे, मुस्कुराते रहना इसी तरह हमेशा, क्यों की तेरी इसी मुस्कान में मेरी जान बसी हे ।”


“क्या मौसम आया है, हर तरफ पानी ही पानी लाया है, एक जादू सा छाया है, तुम घरसे बहार मत निकलना वरना लोग कहेंगे बरसात हुई नहीं, और मेंढक निकल आया है ।”


“छत टपकती है उसके कच्चे घर की, वो किसान फिर भी बारिश की दुआ करता है ।”


“अब जितना बरसना है, बरसले ए बारिश वो चला गया है, जिसके साथ मे तुम्हारे इस तोहफे को सीने से लगा लिया करता था ।”


“मोसम हे बारिश का ओर याद तुम्हारी आती है, बारिश के हर कतरे से आवाज़ तुम्हारी आती है ।”


“पता नही ऐसा क्या हे इस बारिश, मे जितनी ज़्यादा बरस रही है, उतना ही तुम याद आ रहे हो ।”


“भीगे मौसम की भीगीसी शुरुआत, भीगीसी याद भूली हुई बात, वो भीगीसी आँखे वो भीगा हुआ साथ, मुबारक हो आपको आज की खूबसूरत बरसात ।”


“तेरी गलियों में ना रखेंगे कदम आज के बाद क्योंकि, किचड़ हो गया है, बरसात के बाद ।”


“एक ख्वाब ने आँखे खोली हैं, क्या मोड़ आया है, कहानी में वो भीग रही थी बारिश में और आग लगी है, पानी में ।”.


“पहन लो तुम ‘रेन कोर्ट’ तुमसे यही है, हमारी गुज़ारिश, मुबारक हो आप सबको सर्दी की पहली बारिश ।”


“जब बारिश होती है, तुम याद आते हो, जब काली घटा छाए, तुम याद आते हो, जब भीगते है तुम याद आते हो, बताओ मेरी छतरी कब वापिस करोगे ।”


“सुना है बारिश में दुआ क़बूल होती है, अगर हो इज्जाजत तो मांग लू तुम्हे ?”


“पूछते हो ना मुझसे तुम हमेशा की मे कितना प्यार करता हू, तुम्हे तो गिन लो बरसती हुई इन बूँदो को तुम ।”


“कहीं फिसल न जाऊं तेरे ख्यालों में चलते चलते अपनी यादों को रोको मेरे शहर में बारिश हो रही है ।”


“कहीं फिसल ना जाओ ज़रा संभल के रहना, मौसम बारिश का भी है, और मुहब्बत का भी ।”


“बारिश के पानी को अपने हाथों में समेट लो, जितना आप समेट पाये उतना आप हमें चाहते है, और जितना न समेट पाए उतना हम आप को चाहते है ।”


“ईस बरसात में हम भीग जायेंगे, दिल में तमन्ना के फूल खिल जायेंगे, अगर दिल करे मिलने को तो याद करना बरसात बनकर बरस जायेंगे ।”


“आसमान में काली घटा छायी है, आज फिर गर्लफ्रेंड ने 2 बातें सुनाई है, दिल तो करता है सुधर जाऊं मगर, बाजूवाली आज फिर भीग के आई है, हैप्पी मानसून ।”


“पहली बारिश का नशा ही कुछ अलग होता हैं, पलकों को छुते ही सीधा दिल पे असर होता हैं, महका महका सावन आज इस दिल को बहका रहा हैं, गुमसुम सी नजरो को आज ये प्यार करना सिखा रहा हैं. हैप्पी मानसून ।”