Rain SMS in Hindi

हवा भी रूक जाती है कहने को कुछ तराने, बारिश की बूंदे भी उसे छूने को करती है बहाने, बारिश की बूँदों में झलकती है तस्वीर उनकी‎ और हम उनसे मिलनें की चाहत में भीग जाते हैं.


बारिश की बूँदों में झलकती है, तस्वीर उनकी‎ और हम उनसे मिलनें की चाहत में भीग जाते हैं.


आज बारिश में तुम्हारे संग नहाना है, सपना ये मेरा कितना सुहाना है, बारिश के कतरे जो तेरे होंठों पे गिरे, उन कतरों को अपने होंठों से उठाना है.


गिरा दे जितना पानी है तेरे पास ऐ बादल, ये प्यास किसी के मिलने से बुझेगी तेरे बरसने से नही.


मैंने उस से पुछा क्या धुप मे बारिश होती है, ये सुन कर वो हँसने लगी, और हँसते हँसते रोने लगी, फिर धुप में बारिश होने लगी.


बारिश का इंतज़ार कितनी सिद्दत से करता है किसान, मालूम है उसे जबकि उसका घर मिट्टी का है.


कितना अधूरा लगता है, तब जब बादल हो पर बारिश ना हो, जब जिंदगी हो पर प्यार ना हो, जब आँखे हो पर ख्वाब ना हो, और जब कोई अपना हो पर साथ ना हो.


एक ख्वाब ने आँखे खोली हैं, क्या मोड़ आया है कहानी मे वो भीग रही थी बारिश में और आग लगी है पानी में.


हवा भी रूक जाती है कहने को कुछ तराने, बारिश की बूंदे भी उसे छूने को करती है बहाने.


जब जब गरजते हे ये बादल मेरे दिल की धड़कन बढ़ जाती है| ओर मेरे दिल की हर एक धड़कन से आवाज़ आती है.


खुश नसीब होते हैं बादल जो दूर रहकर भी ज़मीन पर बरसते हैं,और एक बदनसीब हम हैं जो एक ही दुनिया में रहकर भी, मिलने को तरसते हैं.


बारिश की तरह तुम बरसती रहो हम पर, मिट्टी की तरह हम भी महकते चले जाएँ.


ये हुस्न ए मौसम, ये बारिश, ये हवाएं, लगता है, मोहब्बत ने आज किसी का साथ दिया है.


जब जब गरजते हे ये बादल मेरे दिल की धड़कन बढ़ जाती है, ओर मेरे दिल की हर एक धड़कन से आवाज़ आती है.


मुझको फिर वही सुहाना नज़ारा मिल गया, नज़रों को जो दीदार तुम्हारा मिल गया, और किसी चीज़ की तमन्ना क्यूँ करू, जब मुझे तेरी बाहों में सहारा मिल गया.


हवा भी रूक जाती है, कहने को कुछ तराने, बारिश की बूंदे भी उसे छूने को करती है, बहाने.