Makar Sankranti Uttrayan Shayari & SMS in Hindi

सूरज की राशी बदलेगी, कुछ का नसीब बदलेगा, यह साल का पहला पर्व होगा, जब हम सब मिल कर खुशियाँ मनाएंगे हैप्पी मकर संक्रांति.


मीठी बोली, मीठी जुबान, मकर संक्रांति पर यही है पैगाम मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएं.


काट ना सके कभी कोई पतंग आपकी, टूटे ना कभी डोर आपके विश्वास की, छू लों आप जिंदगी के सारे कामयाबी, जैसे पतंग छूती है ऊंचाइयां आसमान की मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएं.


Ek he Samanta Hai, Patang Aur Zindagi Mein Unchai Me Ho Tab Tak He Wah Wah Hoti Hai.


बंदे हें हम गुजराती हम पर किसका ज़ोर उतरायण में उड़े पतंग चारों ओंर लंच में खायें ऊँधिया और जलेबी गोल-गोल अपना मांजा  खुद बनवाने आज चले हम टेरेस की ओर. Happy Uttarayan.


पल पल सुनहरे फूल खिलें कभी ना हो काँटों का सामना जिंदगी आपकी खुशियों से भरी रहे संक्रांति पर हमारी यही शुभकामना.


ऐसा है की अपनी पतंग संभाल के उड़ाना हमारी छत से पतंग तो मिल जाती है दिल वापस नहीं मिलता.


मंदिर की घंटी, आरती की थाली, नदी के किनारे सूरज की लाली, ज़िन्दगी में आये खुशियों की बहार, आपको मुबारक हो संक्रांत का त्यौहार हैप्पी मकर संक्रांति.


इससे पहले कि sankranti की शाम हो जाये मेरा मैसेज औरों की तरह आम हो जाये और सारे मोबाइल नेटवर्क जाम हो जाये आपको लोहरी की शुभकामनाएं.