Judaai Shayari in Hindi

हर मुलाक़ात पर वक़्त का तकाज़ा हुआ, हर याद पर दिल का दर्द ताज़ा हुआ, सुनी थी सिर्फ लोगों से जुदाई की बातें, खुद पर बीती तो हक़ीक़त का अंदाज़ा हुआ.


Lamhe judai ke bekarar karte hain, Haalat meri mujhe laachar karte hain, Aankhe meri pad lo kabhi, Ham khud kaise kahe ki hum aapse pyaar karte hain.


आओ किसी शब मुझे टूट के बिखरता देखो, मेरी रगों में ज़हर जुदाई का उतरता देखो, किस किस अदा से तुझे माँगा है खुदा से, आओ कभी मुझे सजदों में सिसकता देखो.


Shaam Hote Hi, Diye Bujha Deta Hun Main Shaam Hote Hi, Diye Bujha Deta Hun Main Yeh Dil Hi Kaafi Hai Teri Yaad Mein Jalne Ko.


कुछ एहसासों के साये दिल को छू जाते है कुछ मंजर दिल में उतर जाते है बेजान गुलशन में भी फूल खिल जाते है जब जिंदगी में आप जैसे दोस्त मिल जाते है.


आपस की चाहत को पेंचों से दूर रखिये , कटी पतंगों के मुक्कद्दर में उलझने बहुत है.


बहारों के कदमों तले  कुछ हौंसले दबे है उठा लाओ आज हमें ये पतझड़ सँवारनी है.


Duriyan hi dilo ko nazdik lati hai, Duriyan hi ek duje ki yaad dilati hai, Door hoker bhi koi kareeb hai kitna, Duriyan hi is baat ka ehsaas dilati hai.


भूल जाऊंगा उसी वक़्त उसी पल, बस तू उससे मिला दे जो मुझसे ज़्यादा चाहता है तुझे.


Khawab dekhe bhi nahi aur toot gaye , Hum unse mile bhi nahi aur woh rooth gaye , Hum jagte rahe duniya soti rahi , Ek barish hi thi jo sang hamare roti rahi.


वो कब का भूल चुका होगा प्यार का किस्सा, ऐ-दिल बिछड़ कर कब किसी को किसी का ख्याल रहता है.


Bhulana aapko na aasaan hoga. Bhule jo aapko woh naadaan hoga, Aap baste ho dil me hamare, Aap hamein na bhule, yeh aapka ehsaan hoga.


हर शाम ये सवाल के मोहब्बत से क्या मिला हर शाम ये जबाब के हर शाम रो पड़े.