Pyar ka Izhaar Shayari in Hindi

प्यार क्या है न पूछो तुम मुझसे, क्या बताने से मान जाओ गए, यूं बताने से फायदा भी नहीं, कर के भी देखो तो जान जाओ गए.


हया के परदे में वो इज़हारे -ऐ -इश्क़ नहीं करता, जब चाहते है उसे हाल-ऐ-दिल सुनाना, आ जाता है हमारे बीच हया का पर्दा, इसलिए वो इक़रार-ऐ-इश्क़ नहीं करते.


Yun To Sapne Bahut Hasi Hote Hai, Par Sapno Se Pyaar Nahi Karte, Chahate To Tumhe Hum Aaj Bhi Hai, Bas Izhar Nahi Karte.


वह जो मुस्कुरा के मिला कभी, तो यह फ़िक्र जैसे मुझे हुई, कहूँ अपने दिल की जो बात मैं, कहीं मुस्कुरा के टाल दे न यूँही.


Unki julfo ke tale hum zamana bhula dete hain Vo ek nazar se kitne armaan jaga dete hain Isqe to unko bhi hai humse ye jaante hain hum Phir bhi na kah kar kyo vo iss dil ko saza dete hain.


कसूर तो था ही इन निगाहों का, जो चुपके से दीदार कर बैठा, हमने तो खामोश रहने की ठानी थी, पर कमबख्त ये ज़ुबान इज़हार कर बैठा.


Dil karta hain zindagi tujhe de du, Zindagi ki saari khusiyan tujhe de du..De de agar tu mujhe bharosa apne saath ka. To yakeen maan apni saanse bhi tujhe de du.


यूँ तो सपने बहुत हसीन होते है, पर सपनो से प्यार नहीं करते, चाहते तो तुम्हे आज भी हम है, बस इज़हार नहीं करते.


Yuhi aankhon se ansu bahte nahi, Kisi aur ko hum apna kahte nahi, Ek tum hi ho jo ruk se gaye ho zindagi mein, Varna rukne ke liye hum kisi ko kahte nahi.


उन को चाहना मेरी मोहब्बत, उन्हें कह न पाना मेरी मजबूरी, क्यों वो समझ नहीं पाता मेरे दिल की बात को, क्या प्यार का इज़हार करना ज़रूरी है.


Kuch door mere saath chalo Hum saari kahani keh denge Samjhe na tum jise aankhon se Wo baat muh Jubaani keh denge I love u my love.