Hurt Status in Hindi

यूँ गुमसुम मत बैठो पराये से लगते हो, मीठी बातें नहीं करना है तो चलो झगड़ा ही कर लो.

————

हमने तुम्हें उस दिन से और ज़्यादा चाहा है, जबसे मालूम हुआ के तुम हमारे होना नही चाहते.

————

काश एक ख़्वाहिश पूरी हो इबादत के बगैर, तुम आ कर गले लगा लो मुझे, मेरी इज़ाज़त के बगैर.

————

ज़िन्दगी जोकर सी निकली, कोई अपना भी नहीं….कोई पराया भी नहीं.

————

आने वाला कल अच्छा होगा, बस इसी सोच मे आज बीत जाता है.

————

मेरी कोशिश हमेशा से ही नाकाम रही पहले तुजे पाने की अब तुजे भुलाने की.

————

छोड दी हमने हमेशा के लिए उसकी, आरजू करना, जिसे मोहब्बत, की कद्र ना हो उसे दुआओ, मे क्या मांगना.

————

कहा था ना मैने “सोच लो तुम”, जिन्दगी भर रिश्ते निभाना आसान नहीं होता!

————

एक मैं हूँ, किया ना कभी सवाल कोई, एक तुम हो, जिसका कोई नहीं जवाब.

————

बहुत लम्बी ख़ामोशी से ग़ुजरा हूँ मैं किसी से कुछ कहने की तलाश में.

————

शौक से तोडो दिल मेरा, मुझे क्या परवाह, तुम्ही रहते हो इसमें, अपना ही घर उजाड़ोगे.

————

मेरी आँखों में आसूं… तुझसे हम दम क्या कहूं क्या है, ठहर जाये तो अंगारा है, बह जाये तो दरिया है.

————

सिर्फ दिल ही दाव पर लगाया था पर उसने तो मेरी जान ही ले ली.

————

एक चाहत थी तेरे_संग_जीने_की वरना, मौहब्बत तो किसी से भी हो सकती थी।

————

अजीब सी बस्ती में ठिकाना है, मेरा जहाँ लोग मिलते कम झांकते ज़्यादा है.

————

चाहने वालो को नही मिलते चाहने वाले. हमने हर दगाबाज़ के साथ सनम देखा है.

————

मेरे घर से मयखाना इतना करीब न था, ऐ दोस्त कुछ लोग दूर हुए तो मयखाना करीब आ गया.

————

सुना है तुम ज़िद्दी बहुत हो, मुझे भी अपनी जिद्द बना लो.

————

जो मैं रूठ जाऊँ तो तुम मना लेना, कुछ न कहना बस सीने से लगा लेना।

————

मरते तो तुझ पर लाखो होगें, मगर हम तो तेरे साथ मरना चाहते है।

————

ज़िन्दगी बहुत ख़ूबसूरत है, सब कहते थे। जिस दिन तुझे देखा, यकीन भी हो गया.

————

आज तो हम खूब रुलायेंगे उन्हें, सुना है उसे रोते हुए लिपट जाने की आदत है!

————

मेरे दिल से उसकी हर गलती माफ़ हो जाती है, जब वो मुस्कुरा के पूछती है, नाराज हो क्या?

————

मोहब्बत किससे और कब हो जाये अदांजा नहीं होता, ये वो घर है, जिसका दरवाजा नहीं होता.

————

होता अगर मुमकिन, तुझे साँस बना कर रखते सीने में, तू रुक जाये तो मैं नही, मैं मर जाऊँ तो तू नही.

————

है कोई वकील इस जहान में, जो हारा हुआ इश्क जीता दे मुझको.

————

अजीब दस्तूर है, मोहब्बत का, रूठ कोई जाता है, टूट कोई जाता है।

————

जी भर गया है तो बता दो, हमें इनकार पसंद है इंतजार नहीं।

————

काश वो भी आकर हम से कह दे मैं भी तन्हाँ हूँ ,तेरे बिन, तेरी तरह, तेरी कसम, तेरे लिए।