Happy Raksha Bandhan Shayari

सावन भाई-बहन के रिश्ते को फिर से हरा-भरा करने पूर्णिमा के चाँद के साथ आया है, राखी भाई की वचनबद्धता और बहन की ममता, दुलार अपने संग लाया है.


ओस की बूंदों से भी प्यारी है, मेरी बहना गुलाब की पंखुड़ियों से भी नाज़ुक है, मेरी बहना आसमां से उतारी कोई राजकुमारी है सच कहूँ तो मेरी आँखों की राजदुलारी है मेरी बहना.


है ये कच्चे धागों का बंधन टूट के भी कभी नहीं टूट पायेगा.


Rishta Hai Ye Janmon Ka Bharose Ka Aur Pyar Ka Aur Bhi Gehra Ho Jaaye ye Rishta Kyunki Rakhi Tyonhar Hai Bhai Behno Ke Pyar Ka.


जैसे दोनों आंखे एक साथ होते हैं वैसे भाई बहन के रिश्ते भी खास होते हैं Happy Raksha Bandhan.


Chandan Ka Teeka Resham Ka Dhaga,  Sawan Ki Sugandh Barish Ki Fuhar, Bhai Ki Umeed Bahna Ka Pyar, Mubarak Ho Aapko “Raksha Bandhan” Ka Tyohar.


रंग बिरंगी राखी बाँधी, फिर सूंदर सा तिलक लगाया, गोल गोल रसगुल्ला खाकर, भैया मन ही मन मुस्कुराया Happy Rakhi.


Kya Bataoon Yaar Meri Kismat Ki Kahani Kuch Is tarah Likhi Gai Jin Hatho Se Gulab Dena Chaha Tha Unhi hatho me vo Rakhi Bandhkar Chali Gai.