God Status in Hindi

मुझे कौन याद करेगा इस भरी दुनिया में, हे ईश्वर ! यहाँ तो बिना मतलब के तो लोग तुझे भी याद नहीं करते…!


ग़ालिब ने यह कह कर तोड़ दी माला, गिनकर क्यों नाम लूँ उसका जो बेहिसाब देता है।


मत करना अभिमान खुद पर ऐ इन्सान ! तेरे और मेरे जैसे कितनो को ईश्वर ने माटी से बनाकर माटी में मिला दिया !


जैसे शरारती बच्चों के लिए मक्खियाँ होती हैं,वैसे ही देवताओं के लिए हम होते हैं; वो अपने मनोरंजन के लिए हमें मारते हैं.


तुम दिव्य हो .तुम मेरा हिस्सा हो .मैं तुम्हारा हिस्सा हूँ .


मैं एक नास्तिक हूँ और इसके लिए मैं ईश्वर का शुक्रगुजार हूँ .


हर व्यक्ति भ्रूण में एक भगवान है. उसकी सिर्फ एक इच्छा है ;पैदा होने की.


मैं ईश्वर के साथ शांति से हूँ . मेरा टकराव इंसानों के साथ है .


मैं जिन चीजों से गुजरा हूँ और जिस असाधारण तरीके से मेरे शरीर ने प्रतिक्रिया की वह अद्भुत है.


आश्चर्य नहीं की मैं धार्मिक हो गया, क्योंकि आप नहीं जानते कि आपके साथ कुछ चीजें क्यों हो रही हैं और… कौन कहता है कि मैं भगवान् की विशेष सुरक्षा के अंतर्गत नहीं हूँ ?


मेरा मानना ​​है कि आज मेरा आचरण सर्वशक्तिमान निर्माता की इच्छा के अनुसार है.


मैं अपने लोगों के बारे में दिन रात सोचता हूँ. मैं बार-बार उनके नाम लेता हूँ.


मैं अपने भक्तों का अनिष्ट नहीं होने दूंगा.


जो कोई भी जिस किसी भी देवता की पूजा विश्वास के साथ करने की इच्छा रखता है , मैं उसका विश्वास उसी देवता में दृढ कर देता हूँ .


भगवान प्रत्येक वस्तु में है और सबके ऊपर भी.


मैं इस्लाम धर्म में यकीन रखता हूँ. मैं अल्लाह और शांति में यकीन रखता हूँ।


भगवान् का अलग से कोई अस्तित्व नहीं है . हर कोई सही दिशा में सर्वोच्च प्रयास कर के देवत्त्व प्राप्त कर सकता है .


मैंने भगवान् और मानवता को नाराज़ किया है क्योंकि मेरे काम में वो गुणवत्ता नहीं आ पायी जो आनी चाहिए थी।


यदि कोई सिर्फ और सिर्फ मुझको देखता है और मेरी लीलाओं को सुनता है और खुद को सिर्फ मुझमें समर्पित करता है तो वह भगवान तक पंहुच जायेगा.


यदि कोई अपना पूरा समय मुझमें लगाता है और मेरी शरण में आता है तो उसे अपने शरीर या आत्मा के लिए कोई भय नहीं होना चाहिए.


मैं डगमगाता या हिलता नहीं हूँ.

आप जो कुछ भी देखते हैं उसका संग्रह हूँ मैं.


मैं हर एक वस्तु में हूँ और उससे परे भी. मैं सभी रिक्त स्थान को भरता हूँ.


निर्माण केवल पहले से मौजूद चीजों का प्रक्षेपण है


सारे धर्म इंसानों द्वारा बनाये गए हैं.


मनुष्य को सिर्फ रोटी के लिए नहीं जीना चाहिए, बल्कि ईश्वर के मुख से निकले हुए हर शब्द के मुताबिक जीना चाहिए.


चलो तुममे से एक ; जो पापी ना हो वो पत्थर मारने वाला पहला व्यक्ति हो.


मेरी शरण में रहिये और शांत रहिये. मैं बाकी सब कर दूंगा.


मैं अपने भक्त का दास हूँ.