Eid Shayari in Hindi

ईद आई तुम न आए क्या मज़ा है ईद का ईद ही तो नाम है इक दूसरे की दीद का.


Itne Majboor the Eid Ke Roz Taqdeer Se Hum Ro Pade Milke Gale Apki Tasweer Se Hum.


नजर का चैन दिल का सुरूर होते हैं, कुछ ऐसे लोग जहाँ में जरुर होते हैं सदा चमकती रहे इनकी ईद का तहवर, करीब रहकर भी जो दिल से दूर होते है.


Chand Nikla toh main logo Se lipat lipat kar Roya, Gham k Aansoo they jo Khusiyo k Bahaane Nikle.


तमन्ना आपकी सब पूरी हो जाए हो आपका मुकद्दर इतना रोशन की आमीन कहने से पहले ही आपकी हर दुआ कबूल हो जाए.


Teri deed jis ko naseeb hai wo naseeb qabil-e-deed hai, Tuje sochna meri Chand Raat tujhe dekhna meri eid hai.


ईद के दिन आओ करें यही वादा, खुदा की ही राहों में चलेंगे सदा खुदा की हो हम पर मेहरबानी, कर दे माफ हम सब की सारी नाफरमानी सभी लोगों को ईद मुबारक.


Bata Kaunse Mausam mai Ummed – E -Wafa Rakhe, Tuj ko Jo Eid k Din Bhi Ham Yaad Nahi Aaye.


दीपक में अगर नूर ना होता, तन्हा दिल यूँ मजबूर ना होता मैं आपको “ईद मुबारक” कहने जरूर आता अगर आपका घर इतना दूर ना होता.


Jo kho geya hum se andher raton mein Usi ko dhoond ke lao ke eid aayi hai.


Hamne Tumhe dekha he nahi toh kiya Eid Manayen, Jis ne tumhe dekha usey Eid Mubarak.