1000+【Death Status】in Hindi & English About Died

Death Status in Hindi & English

ज्ञानी व्यक्ति कभी नहीं मरते और जो नासमझ हैं वे तो पहले से ही मरे हुए हैं|


यहां तक कि बुद्धिमानी से जीनेवाले को मौत से भी डर नहीं लगता है. …क्योंकि शायद मौत ही इस जिंदगी का सबसे बड़ा आविष्कार है.


कुछ भी नहीं जो हमेशा नहीं रह सकता।


मृत्यु संभवतः मानवीय वरदानो में सबसे महान है.


A person has learned much who has learned how to die.


Death never takes a wise man by surprise; he is always ready to go.


Death pays all debts.


Death takes no bribes.


आज कल इंसान की कोई कदर नहीं मौत भी आ जाये तो उस पर रोने वाला कोई नहीं


जिंदगी तो एक मेहमान हैं एक दिन छोड़ कर जाना पड़ेगा कुछ नहीं बस अपना जिस्म साथ में ले जाना पड़ेगा


बड़ी ईमानदार हैं ये मौत, भेद भाव नहीं करती


हर पल मौत का ख़ौफ़ लगा रहता हैं सब को पता नहीं कब कैसे आ जाये किसी को


There are more dead people than living. And their numbers are increasing. The living is getting rare.


Dying is like getting audited by the IRS something that only happens to other people until it happens to you.


The human animal is a beast that dies but the fact that he’s dying don’t give him pity for others, no sir.


Cowards die many times before their deaths.


तेरे बिना जीना बेकार हैं अब बस मौत का इंतजार हैं


कितना भी दुनिया को धोखा दे ले पर मौत तुझे नहीं छोड़ेगीतुझे क्या किसी को भी नहीं छोड़ेगी


मौत जिंदगी का कड़वा सच हैं हर जिन्दा जीव को पीना हैं


सब को पता हैं फिर भी अनजान हैं साथ ले जाएगी ये मौत फिर क्यों हम धोखे के साथ हैं


The valiant never taste of death but once.


Better to flee from death than feel its grip.


Goodbyes are only for those who love with their eyes. Because for those who love with heart and soul there is no such thing as separation.


Because there is no glory in illness. There is no meaning to it. There is no honour in dying of.


हाथ मत छोड़ना मेरा साथ मत छोड़ना मेरा मौत भी आ गयी तो साथ मत छोड़ना मेरा


एक दिन सब को आनी हैं ये मौत आज मुझे तो कल तुझे आनी हैं ये मौत


मौत तो कभी भी आए गी उसका क्या हम मर भी गए तो दुनिया को फर्क नहीं पड़ेगा मेरा मरने से दुनिया का क्या


शायद मौत भी मुझसे डर गयी मेरा दर्द देख कर मुझ पर रहम कर गयी और मुझे फिर से जिन्दा छोड़ गयी


Our death is not an end if we can live on in our children and the younger generation. For they are us; our bodies are only wilted leaves on the tree of life.


When I die, I want to die like my grandfather who died peacefully in his sleep. Not screaming like all the passengers in his car.

You May Also Like