Breakup Status in Hindi

“अभी तो जरा वक़्त है, उनका आजमाने दो उनको रो रो कर पुकारेंगें हमे जरा हमारा वक़्त तो आने दो ।”


“सिमटते जा रहें हैं दिल और जज्बात के रिश्ते सौदा करने में जो माहिर है, बस वही धनवान है


“तमन्ना जब किसी की नाकाम होती है, जिन्दगी उस की एक उदास शाम होती है, दिल के साथ दौलत ना हो जिस के पास, मोहब्बत उस गरीब की नीलाम होती है ।”


“उसे तेरी इबादतों पे यकीन है, नहीं जिस की ख़ुशियां तू रब से रो रो के मांगता है ।”


“बड़ी मुस्किल से बनाया था, अपने आपको काबिल उसके उसने ये कहकर बिखेर दिया की तुमसे मोह्बत तो है पर पाने की चाहत नही हैं ।”


“लोग अपना बना के छोड़ देते हैं, अपनों से रिशता तोड़ कर गैरों से जोड़ लेते हैं, हम तो एक फूल ना तोड़ सके, नाजाने लोग दिल कैसे तोड़ देते हैं.”


“न, मोहब्बत का कोई क़ुसूर नहीं, उसे तो मुझसे रूठना ही था दिल मेरा शीशे सा साफ़, और शीशे का अंजाम तो टूटना ही था !”


“हमको खबर भी होने नही दी किस मोड़ पर लाकर दिल तुने तोड़ा अपना बनाना रहा दूर तुने औरो के हो जाए ऐसा ना छोड़ा ।”


“इतनी हिम्मत तो नहीं किसी को हाल ये दिल सुना सके, बस जिसके लिये उदास है बो महसूस करे तो काफी है !”


“याद मीठी सी दिलाकर चले गए दिल हमारा साथ उठा कर चले गए ! सबे महफिल देखती ही रह गई ! वो मस्त ऑखों से पिलाकर चले गए !”


“तुम पूछो और मैं न बताऊं ऐसे तो हालात नहीं एक जरा सा दिल टूटा है, और तो कोई बात नहीं ।”


“ना दर्द हुआ सीने में, ना माथे पे शिकन आई। इस बार जो दिल टूटा तो बस मुस्कान आई ।”


“हम तेरे इश्क़ के उस मुक़ाम पर आ पहुंचे हैं, जहाँ दिल किसी और को चाहे तो गुनाह लगता है ।”


“मुझे कहाँ से आएगा लोगो का दिल जीतना मै तो अपना भी हार बैठा हुँ ।”


“ये दिल अजीब है, अक्सर कमाल करता है, नहीं जवाब जिनका वो सवाल करता है ।”


“प्यार किया तो उनकी महोब्बत नजर आई, दर्द हुआ तो पलके उनकी भर आई, दो दिलों की धड़कन में एक बात नज़र आई, दिल तो उनका धड़का पर आवाज इस दिल से आई ।”


“यादों की किम्मत वो क्या जाने जो ख़ुद यादों को मिटा दिए करते हैं, यादों का मतलब तो उनसे पूछो जो, यादों के सहारे जिया करते हैं!”


“दिल मजबूर कर रहा है, उनसे बात करने को, और कम्बखत वो नाराज होके बैठ जाती है ।”


“नफ़रत करना तो कभी सिखा ही नहीं साहेब, हमने दर्द को भी चाहा है अपना समझ कर !”


दर्द काफी है बेखुदी के लिए, मौत काफी है ज़िन्दगी के लिए, कौन मरता है किसी के लिए, हम तो ज़िंदा है आपके लिए…


अपनी तो ज़िन्दगी ही अजीब कहानी है.. जिस चीज़ को चाहा वो ही बेगानी है… हँसते है तो सिर्फ दोस्तों को हसाने के लिए … वरना इन आँखों में में पानी ही पानी है…


आँसू आ जाते हैँ आखोँ मेँ रोने से पहले… खुआब टूट जाते हैँ पूरे होने से पहले….प्यार गुनाह है यह तो समझ गए… काश कोई रोक लेता यह गुनाह होने से पहले।


एक “सफ़र” ऐसा भी होता है दोस्तों……जिसमें “पैर” नहीं “दिल” थक जाता है…