Attitude Shayari in Hindi

Bewafai Karke Niklun Ya Wafa Kar Jaunga, Shehar Ko Har Zaike Se Aashna Kar Jaunga,Tu Bhi Dhoondega Mujhe Shauq-e-Saza Mein Ek Din, Main Bhi Koi Khoobsurat Si Khata Kar Jaunga.


गोलिओ के व्यापारी है हम इसलिये हमें धोडा कभी मत दिखाना.. क्योंकि जब ट्रीगर दबाओगे तो गोली बाहर आते ही पहले हमे सलाम ठोकेगी.


ऐसा नहीं है कि मुझमें कोई ऐब नहीं है पर सच कहता हूँ मुझमे कोई फरेब नहीं है.


Hum Jaa Rahe Hai Waha Jahan Dil Ki Ho Kadar, Baithe Raho Tum Apni Adaayein Liye Huye.


#वो #मेरी #न_हुई तो ईसमेँ #हैरत की कोई #बात_नहीँ , क्योँकि #शेर से #दिल_लगाये #बकरी की ईतनी #औकात_नही


#हथियारो का #शोक वे रखतें हैं जिनको #जान का #खतरा हो.. हमारी तों #खुद की जान #दुसरो के लिए #खतरा बनी हुई है!


#पगली तू #मैसेजरिप्लाई की बात करती हैं में तो #Eχαмमें_भी #Qυєѕтισиѕसीन करके #छोड़ देता_हूँ.


Jitna tera Dimag kharab hota hai na …. Utna to me Ghar Chhod kar aata hu…


Maana ki naseeb mein mere koi sanam nahi, Fir bhi koi shikwa koi gam nahi, Tanha the aur tanha jiye jaa rahe hai. Ek Alag Si Pehchaan Banane Ki Aadat Hai Humein,


Zakhm Ho Jitna Gehra Utna Muskurane Ki Aadat Hai Humein, Sab Kuch Luta Dete Hai Dosti Mein, Kyunki Dosti Nibhaane Ki Aadat Hai Humein.


वैसे तो हर दिल पर राज करते हैं हम, जो रूठ जाये उसे मना लेते हैं हम, माना की कम मिलते हैं आपसे हम,  पर जब भी मिलते हैं मुस्कुरा देते हैं हम.


घर से बाहर कोलेज जाने के लिए वो नकाब मे निकली, सारी गली उनके पीछे निकली, इनकार करते थे वो हमारी मोहबत से, और हमारी ही तसवीर उनकी किताब से निकली.


Rehte Hain Aas-Pass Hi, Lekin Sath Nahi Hote, Kuchh Log Jalte Hain Mujhse, Bas Khaak Nahi Hote.


Teri Mohabbat mein Aur meri fitrat mein Fark sirf itna hai, K tera attitude nahi jata,, Aur mujhe jhukna nahi aata.


Use bhul kar jiya to kya jiya, Dam hai to use pakar dikha, Likh patthro par apne prem ki kahani, Aur sagar ko bol Dam hai to ise mita kar dikha.


Jab diljalo Se Mulaqat Hui, Jagmag-Jagmag Raat Ho gayi, Jala Dete Hum Sari Duniya Ko, Achaa Hua Jo Barsaat Ho gayi.


तू बेशक अपनी महफ़िल में मुझे बदनाम करती हैं… लेकिन तुझे अंदाज़ा भी नहीं कि वो लोग भी मेरे पैर छुते है….. जिन्हें तू भरी महफ़िल में सलाम करती है…….