Attitude Shayari in Hindi

ज़िन्दगी से हम अपनी कुछ उधार नहीं लेते कफ़न भी लेते है तो अपनी ज़िन्दगी देकर.


हैसियत कि बात ना कर पगली तेरी दौलत से बडा मेरा  दिल  है.


ना  जिंदगी की खुशी ना  मौत का गम ​जब  तक है दम​  ​अपने ѕтуℓє से जिएगे हम.


जमीं पर रह कर आसमां को छूने का फितरत है मेरा, पर गिरा कर किसी को ऊपर उठने का शौक नहीं रखते.


ये दुनिया है जनाब महफ़िल में बदनाम और अकेले में सलाम करती है.


रहते हैं आस-पास ही लेकिन पास नहीं होते, कुछ लोग मुझसे जलते हैं बस ख़ाक नहीं होते.


भीड़ में खड़ा होना मकसद नहीं हैं मेरा, बल्कि भीड़ जिसके लिए खडी है वो बनना है मुझे.


मेरी ख़ामोशी को कमजोरी ना समझ ऐ काफिर, गुमनाम समन्दर ही खौफ लाता है.


हमको आज़माने की ज़ुर्रत नहीं किसी की, हम खुद अपनी तक़दीर लिखते है, खुदा की लिखावट को बदलना तो हमारी फ़ितरत है, हार को जीत में बदल कर हाथो की लकीर बदलते है.


जमींर हमसे बेचा ना गया, वरना शाम तक अमीर हो जाते, वाकिफ़ तो हम भी हैं, मशहूर होने के तौर तरीकों से, पर ज़िद तो हमें अपने अंदाज से जीने की है.


अभी सूरज नहीं डूबा जरा सी शाम होने दो, मैं खुद लौट जाऊंगा मुझे नाकाम तो होने दो, मुझे बदनाम करने का बहाना ढूँढ़ते क्यों हो, मैं खुद हो जाऊंगा बदनाम पहले नाम होने दो.